नवरात्र नव दिन माई दसम दिन विदाई Lyrics in Hindi – Bunti Dhuriya

Nawratra Naw Din Mai Dasam Din Vidhai is a beautiful Bhaki Geet. This Bhajan is sung by Bunti Dhuriya and also music composed by Bunti Dhuriya.

Song:Nawratra Naw Din
Singer:Banti Dhuriya
Composer:Banti Dhuriya

नवरात्र नव दिन माई दसम दिन विदाई  Lyrics in Hindi

नवरात्र नव दिन माई
दशम दिन विदाई
विसर्जन माँ चली

नवरात्र नव दिन माई
दशम दिन विदाई
विसर्जन माँ चली

विसर्जन माँ चली
विसर्जन माँ चली

आँगन डगर घर सूना
अधीर भये नैन
निरास हुए हर गली

नवरात्र नव दिन माई
दशम दिन विदाई
विसर्जन माँ चली

भूल ना सकूँगा वो मन की
सजग सुहानी वो घडी
मोह माया ममता से जुडी थी
तेरे लगन की हर कड़ी

सपनो की वो डोर टूटी
माँ बेटे से रूठी
मुरझाई मन की काली

नवरात्र नव दिन माई
दशम दिन विदाई
विसर्जन माँ चली

चौदह भवन की महारानी
पाती थी आयी ख़ुशी लिए
जल उठे शुभम अंधरे पथ में
सटी के सात के कई दिए
गरबा डांडिया नाच गाना
जगराते का तराना
हर एक रैना भली

नवरात्र नव दिन माई
दशम दिन विदाई
विसर्जन माँ चली

रो रहा है रोम रोम मेरा
मुझे ना माता बिसराना
जाते जाते भाव से पर लाना माँ
पुकारना माँ सवर्ण
अर्पण करे तुझे वीरा
श्रद्धा का जखीरा
हे माँ भजनावली

नवरात्र नव दिन माई
दशम दिन विदाई
विसर्जन माँ चली

विसर्जन माँ चली
विसर्जन माँ चली

आँगन डगर घर सूना
अधीर भये नैन
निरास हुए हर गली

नवरात्र नव दिन माई
दशम दिन विदाई
विसर्जन माँ चली

बोलो सांचेदारबार की जय
जय माता दी 

Music Video of Navratri Naw Din Dasam Din Vidai on Youtube:

We hope you understand Navhratra Naw Din Dasam Din Vidai Lyrics. So please share it with your friends and family. Thank you for joining Lyricsveer we will continue to bring you lyrics of all new songs in the same way.

Leave a Comment